जावा क्या है? – परिभाषा , इतिहास , प्रकार और फीचर्स

इस स्मार्टफोन और इंटरनेट के दौर में हमारे दिन की शुरुआत बिना मोबाइल के नहीं होती. हम जब भी सुबह सोकर उठते हैं तो हम सबसे पहले अपने मोबाइल फोन को देखकर ही उठते हैं. ये हमारी जिंदगी का हिस्सा बन गया है और हो भी क्यों ना हम अपना सारा काम अब इसी मोबाइल फोन से ही तो करते हैं. पहले समान खरीदने के लिए हमें बाजार जाना होता था. पैसे भेजने के लिए या जमा करने के लिए बैंकों में सुबह से लाइन में लगना पड़ता था.

लेकिन अब वो सारे कम हम घर बैठे मोबाइल से ही कर सकते हैं। लेकिन क्या आपने कभी ये सोचा है की ये सारी सुविधा हमें मोबाइल से कैसे प्राप्त होती है. जावा क्या है? दोस्तों ये संभव हो पाया है एक उच्च स्तर के प्रोग्रामिंग लैंग्वेज. जावा की वजह से अगर आप एक कंप्यूटर के स्टूडेंट है या रह चुके हैं तो आपने जावा का नाम यकीन अन सुना होगा। और अगर आपने नहीं सुना तो हम है ना.

बाइटविद्या की तरफ से आपको जावा के बारे में पूरी जानकारी देने वाले इसलिए इस आर्टिकल को अंत तक जरूर पड़े।. आगे बढ़ने से पहले दोस्तों आप सभी का बहुत- बहुत स्वागत है हमारी वेबसाइट बाइटविद्या में. दोस्तों अब चलिए जानते है सबसे पहले की जावा क्या होता है।.

जावा क्या है? – What Is Java?

जावा एक ऑब्जेक्ट ओरिएंट जिसे हाई लेवल लैंग्वेज भी कहा जाता है क्योंकि इसे मानव द्वारा आसानी से पढ़ा और लिखा जा सकता है. जावा एक मल्टीपल प्लेटफार्म और डिस्ट्रीब्युटेड प्रोग्रामिंग लैंग्वेज है, जिसका उपयोग कंसोल एप्लीकेशन, सॉफ्टवेयर एप्लीकेशन , वेब एप्लीकेशन , मोबाइल एप्लीकेशन डेवलपमेंट, गेम डेवलपमेंट या पीसी या एम्बिेडेट सिस्टम को बनाने के लिए किया जाता है।

इसके अलावा इस लैंग्वेज का इस्तेमाल लगभग सभी डिवाइसेस के लिए सॉफ्टवेयर या एप डिवेलप करने के लिए भी होता है ।. जावा दूसरी प्रोग्रामिंग लैंग्वेज की तुलना में सरल, बेहतर और सुरक्षित प्रोग्रामिंग लैंग्वेज है, जिसका प्रयोग वर्तमान समय में केवल कंप्यूटरर्स में ही नहीं बल्कि मोबाइल फोन, टैबलेट्स, इलेक्ट्रॉनिक डिवाइसेज जैसे टीवी, वाशिंग मशीन आदि में भी किया जाता है। आजकल ऑनलाइन बैंकिंग, ऑनलाइन शोपिंग, ऑनलाइन फॉर्म ये सभी जावा की मदद से ही संभव हुआ है. वर्तमान में लगभग सभी मोबाइल कंपनी जावा का सपोर्ट करते हैं.

What Is Java

Google ने जावा को लिनक्स के साथ जोड़ते हुए मोबाइल डिवाइसेज के लिए एंड्रॉयड का नाम एक open source ऑपरेटिंग सिस्टम डिवेलप किया गया है जो की आज के समय में काफी मशहूर हो चुका है और लगभग सभी बड़ी कंपनियां android platform के लिए मोबाइल डिवाइसेज, टैबलेट्स, स्मार्टवॉच आदि डिवेलप करते हैं।. जावा लैंग्वेज वेब एप्लीकेशन जैसे वेबसाइट या ब्लॉग बनाने की सुविधा भी प्रदान करती है और साथ ही मोबाइल के लिए एप्स भी बनाने में मदद करती है।

आज के समय में जितने भी web pages है वो JavaScript पर चलते हैं। Android Devices के लिए बहुत सारे ऐसे एप्लीकेशंस बनाए गए हैं जो की जावा में लिखा गया होता है.

ये एप्लीकेशन Android के Software Development Kit यानी SDK का उपयोग करके बनाए गए है। और दोस्तों अब हम जानते है जावा के इतिहास के बारे में.

जावा का इतिहास – History Of Java

जावा एक कंप्यूटर बेस्ड प्रोग्रामिंग लैंग्वेज है जिसे James Gosling और उनके साथी Sun Microsystem ने 1990 में विकसित किया था. James Gosling को जावा का father माना जाता है. इस लैंग्वेज के बनाने के पीछे उनका ही सिद्धांत था .

जावा का इतिहास

Write Once Run Anywhere

जिसका मतलब था लैंग्वेज को एक ही बार लिखाय जाएगा और इसका उपयोग हर जगह किया जाएगा।. James Gosling और उनकी टीम द्वारा विकसित की गई इस प्रोग्रामिंग लैंग्वेज का नाम उन्होंने Oak रखा था.

जिसके बाद 1991 में इसका नाम बदलकर जावा रख दिया गया। जावा के टीम के सदस्यों को ग्रीन टीम भी कहा जाता है। इन्होंने एक लैंग्वेज को डिवेलप करने के लिए प्रोजेक्ट शुरू किया था जो की डिजिटल डिवाइस के लिए एप्लकेशन डिवलप करने में मदद करता है। मुख्य जावा को कंज्यूमर इलेक्ट्रॉनिक्स डिवाइसेस जैसे की टीवी, सेटअपॉक्स, वीसीआर सॉफ्टवेयर बनाने के लिए डिवेलप किया गया था। लेकिन ये इंटरनेट प्रोग्रामिंग के लिए बेस्ट प्रोग्रामिंग लैंग्वेज बन गया। James Gosling ने इस प्रोग्राम का नाम सबसे पहले Green Oak रखा था जिसके बाद इसे बदल कर Oak रखा गया। ये नाम पहले से ही Oak टेक्नोलॉजी के द्वारा रजिस्टर्ड था.

इसलिए इसे फिर से बदलकर जावा रखा गया. जावा का सबसे महत्वपूर्ण और लोकप्रिय फ्यूचर है की जावा लैंग्वेज प्लेटफार्म इंडिपेंडेंट होता है। इसका मतलब है की जावा प्रोग्रामिंग लैंग्वेज किसी विशेष hardware या ऑपरेटिंग सिस्टम के लिए नहीं बनाया गया है. इसलिए जावा पर बनाए गए प्रोग्राम किसी भी सिस्टम पर रन किएये जा सकते हैं।. जावा का ये यूनिक feature आज भी जावा को सबसे पॉप्युलर लैंग्वेज बनाता है.

जावा का पहला वर्जन JDK 1.0January 23, 1996 में रिलीज़ किया गया था।. उसके बाद कई सारे वर्जन और रिलीज किए गए। वर्तमान में जावा का लेटेस्ट वर्जन है Java 22 –  March 19, 2024 में रिलीज किया गया था।

ये एक ऑब्जेक्ट ओरिएंटेड लैंग्वेज है जो कि C और C++ लैंग्वेज पर आधारित है. लेकिन जावा को और भी सिम्पलीफाई और इम्प्रूव किया गया है जिससे प्रोग्रामिंग फीचर्स के error को दूर किया जा सके। जावा सॉर्स कोड की फाइल्स जिनका एक्सटेंशन डॉट जावा(.java) होता है उनको कंपाइलर की मदद से bitcode फॉर्मेट में generate किया जाता है और फिर जावा interpreter उसको एक्जीक्यूट करता है। Compiled जावा Code सभी कंप्यूटर पर Java Virtual Machine(JVM) मदद से है. JVM वह मशीन है जो की रनटाइम एनवायरनमेंट उपलब्ध कराता है जहां पर जावा प्रोग्राम को रन किया जाता है.

जितने भी कंप्यूटरर्स जावा प्रोग्राम को रन करते हैं उन सभी में पहले से ही JVM install रहता है. इसलिए जावा का source code सभी प्लेटफार्म के कंप्यूटरर्स में चलता है। और दोस्तों अब जानते हैं की जावा कितने प्रकार के होते हैं ।

जावा के प्रकार – Types Of Java

जावा के प्रकार

जावा वास्तव में एक बहुत ही बड़ी प्रोग्रामिंग लैंग्वेज है। इसलिए Sun Micro-system ने इसे कई हिस्सों में विभाजित कर दिया है ताकि जो प्रोग्रामर्स जिस category से जुड़े सॉफ्टवेयर develop करना चाहते हैं उन्हें केवल उसी category से संबंधित java के बारे में जानने की जरूरत पड़े. जावा को मूल रूप से 4 हिस्सों में डिवाइड किया गया है.

पहला है Java Micro Edition (Java ME)

दूसरा है Java Standard Edition (Java SE)

तीसरा है Java Enterprise Edition (Java EE)

चौथा है JavaFX

दोस्तों अब जानते हैं JAVA के फीचर्स के बारे में :

JAVA के फीचर्स – Features Of Java

JAVA के फीचर्स

तो पहला है ऑब्जेक्ट ओरिएंटेड :- जावा एक शुद्ध ऑब्जेक्ट ओरिएंटेड प्रोग्रामिंग लैंग्वेज यानि oops है। अर्थात इसमें प्रोसीजर्स का प्रयोग नहीं किया जाता बल्कि ये एक ऑब्जेक्ट पर आधारित लैंग्वेज है. Java oops के कॉन्सेप्ट को फॉलो करता है जो software development और maintenance के काम को सरल बनाती है.

दूसरा है प्लेटफॉर्म इंडिपेंडेंट :- जावा प्लेटफॉर्म इंडिपेंडेंट लैंग्वेज है अर्थात यह हर किसी प्लेटफार्म में रन हो सकती है जैसे एंड्रॉयड, विंडोज, लिनक्स और मैक जावा में लिखे गए प्रोग्राम्स किसी भी ऑपरेटिंग सिस्टम में रन किए जा सकते हैं।. जैसे अगर आपने जावा का प्रोग्राम विंडोज ओएस में लिखा है तो उसे हम लिनक्स ओएस में भी आसानी से रन कर पाएंगे.

तीसरा है सिक्योर(Secure) :- जावा का एक और बड़ा feature यह है की ये एक सुरक्षित लैंग्वेज है. जावा सबसे अधिक सुरक्षित है क्योंकि जावा प्रोग्राम जावा राइन एनवायरनमेंट में रन होता है. मशीन कोड को जेनरेट करने से पहले प्रोग्राम को jvm पर कुछ टेस्ट रन करके error को डिटेक्ट करती है।.

नंबर चार सिंपल लैंग्वेज :- जावा एक आसान लैंग्वेज है क्योंकि इसमें C++ की तरह ही सिंटेक्स होते हैं। जो की आसानी से सीखे जा सकते हैं। लेकिन C++ की तरह, इसमें ऑपरेटिंग, ओवरलोडिंग और headers फाइल्स का प्रयोग नहीं किया जाता है जिससे इसे सीखना और भी आसान हो जाता है.

नंबर पाँच पोर्टेबल : जावा एक पोर्टेबल लैंग्वेज है क्योंकि जावा के सोर्स कोड को कंपाइलर की मदद से बिटकोड में परिवर्तित किया जाता है. ये बिटकोड हर किसी सिस्टम में रन हो जाता है इसीलिए इसे आसानी से प्राप्त किया जा सकता है.

नंबर छः रोोबेस्ट(Robust) :- Robust का मतलब होता है मजबूत. जावा में बनाया हुआ कोई भी प्रोग्राम अलग अलग environment में बिना क्रैश हुए काम कर सकता है।. जावा में जो भी errors आती हैं उन्हें आसानी से ढूंढ कर solve किया जा सकता है. इन्हीं सभी कारणों से जावा एक Robust लैंग्वेज है.

नंबर सात डिस्ट्रीबुटेड :- जावा एक डिस्ट्रीब्यूटेड लैंग्वेज है जिसका मतलब है कि जावा प्रोग्राम इंटरनेट में रन करने के लिए बनाए जाते हैं । जावा से हम डिस्ट्रीब्युटेड एप्लीकेश बना सकते हैं. ये वो एप्लीकेशन होते हैं जो अलग- अलग नेटवर्क पर डिस्ट्रीब्यूट होते रहते हैं।.लेकिन एक साथ मिलकर टास्क परफॉर्म करते है। जावा में एसटीटीपी और एफटीपी प्रोटोकॉल का प्रयोग किया जाता है जिससे की आसानी से इंटरनेट में डाटा को एक्सेस किया जाता है.

अब है नंबर आठ मल्टी, थ्रेडेड :- जावा एक मल्टी थ्रेडेड लैंग्वेज है जिसका मतलब है की जावा में बड़े-बड़े प्रोग्राम को छोटे sub programs में divide किया जाता है और इन्हीं सब प्रोग्राम्स को क्रमानुसार ए्जीक्यूट किया जाता है. इसी तरह जावा एक साथ कई टास्क को पूरा कर सकता है. ये फीचर्स जावा को फास्ट और इंट्रैक्टिव बनाते है. इस फ्यूचर का इस्तेमाल मल्टीमीडिया और वेब एप्लीकेशन में किया जाता है.

दोस्तों जावा एक बहुत ही सिंपल और सिक्योरिट लैंग्वेज है जो की आज के दिन में तीन बिलियन डिवाइसेस में इस्तेमाल की जा रही है। आशा है की आपको इस से जावा क्या है और इसके फीचर से जुड़ी सारी जानकारियां मिल गई होंगी.


मेरी हमेशा से यही कोशिश रही है कि हमारे आर्टिकल के ज़रिए आपको दिए गए विषय पर पूरी जानकारी प्राप्त हो सके ताकि आपको कहीं और जाना ना पड़े. इस आर्टिकल से जुड़ी कोई भी परेशानी हो तो आप हमें नीचे कमेंट में जरूर बता सकते है

ताकि हम आपकी परेशानी को जल्द से जल्द दूर कर सके। और अगर आपको ये आर्टिकल पसंद आय हो तो इसे ज्यादा से ज्यादा शेयर करे ताकि बाकी लोगों तक भी ये जानकारी पहुंच सके . तो चलिए अभी मुझे दीजिए इजाजत. हमारी मुलाकात बहुत जल्द होगी हमारे नए आर्टिकल के साथ में. तब तक के लिए धन्यवाद.

Leave a Comment